जीवनदायिनी सई नदी के अस्तित्व को खतरा

जनपद की पावन नदी सई जो जीवनदायिनी कही जाती है, के अस्तित्व का खतरा बढ़ता नजर रहा है। जहां पर इस पावन नदी के तट पर मां बेल्हा देवी, मां बाराही देवी और बाबा बेलखर नाथ धाम जैसे बहुत से पौराणिक मंदिर स्थापित है। लेकिन वर्तमान समय का आलम यह है कि प्रतापगढ़ शहर के नाले का गन्दा पानी एवं मल-मूत्र सीधे नदी में प्रवाहित हो रहा है, और नदी में दूषित जल बह रहा है, कई घाटों पर कूड़ों का अम्बार लगा है, लेकिन नदी के साफ सफाई के तरफ शासन प्रशासन का ध्यान नहीं जा रहा है। कुछ स्वयं सेवी संस्थान यदा कदा फोटो खिचवाने के लिए और मीडिया में बने रहने के लिए नदी में घुटने भर पानी में उतर कर सई को प्रदूषित होने से बचाने के लिए सौगंध भी खाते हैं, परन्तु वो सौगंध क्षणभंगुर रहता है प्रतापगढ़ की जीवनदायिनी पवित्र सई नदी के अस्तित्व का खतरा बढ़ता नजर आ रहा है, पीएम के स्वच्छता अभियान मिशन यहां सिर्फ एक सपना बनकर रह गया है।

Leave a Reply