रोहिंग्या मुसलमानों को लेकर जा रही नाव पलटी, 12 लोगों की मौत

बच्चों सहित बड़ी संख्या में रोहिंग्या शरणार्थियों को
लेकर आ रही एक नौका डूबी, कम से कम 12 लोगों
की मौत हो गई तथा बड़ी संख्या में लोग लापता हैं।

बांग्लादेश और म्यांमार को विभाजित करने

वाली नाफ नदी में रविवार रात को रोहिंग्या

मुसलमानों को लेकर जा रही नौका पलट गई।

जिसमें दो लोगों की मौत हो गई जबकि 32

लापता हैं। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने स्थानीय

टेलीविजन के हवाले से बताया कि बांग्लादेश के

कॉक्स बाजार जिले के पास बंगाल की खाड़ी से

दो शव बरामद हुए हैं। आपको बता दें कि बांग्लादेश

दुनिया के सबसे बड़े शरणार्थी कैंप बनाने पर

काम कर रहा है। इस कैंप में लगभग 8 लाख

रोहिंग्या शरणार्थियों को जगह दी जा सकेगी।

यह कैंप म्यांमार सीमा के पास ही कुतुपलोंग में

बनाया जा रहा है। अभी तक के आंकड़ों के मानें,

तो अभी तक 4 लाख रोहिंग्या बांग्लादेश में शरण

ले चुके हैं। रोहिंग्या घुसपैठ की आशंका के चलते

भारत- बांग्लादेश सीमा के 140 पॉइंट पर अलर्ट

बढ़ाया दिया गया है। भारत और बांग्‍लादेश के

सीमा सुरक्षा बलों की 6 दिवसीय कॉन्फ्रेंस दिल्ली

में बीते शुक्रवार को संपन्‍न हुई। नाव पर करीब

100 लोग सवार थे।  बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश के

अधिकारी अब्दुल जलील ने बताया कि पूरी रात चले अभियान के बाद 12 शव निकाले गये हैं। इनमें ‘‘10 बच्चे, एक बुजुर्ग महिला और एक पुरुष का शव है।’’  क्षेत्र के तटरक्षक कमांडर अलाउद्दीन नयन ने कहा कि तटवर्ती गांव गालचर के पास डूबी इस नौका पर करीब 100 लोग सवार थे। उन्होंने कहा कि नाव में करीब 40 वयस्क पुरुष थे। ‘‘बाकी सभी बच्चे थे।’’  जलील ने बताया कि तटरक्षकों ने तीन महिलाओं और दो बच्चों सहित 13 रोङ्क्षहग्याओं को सुरक्षित बचा लिया। पिछले कुछ दिनों में ऐसी घटनाएं सामने आई हैं जिनमें रोहिंग्या मुस्लिमों ने बांग्लादेश से भारत की सीमा में दाखिल होने की कोशिश की है। ये घटनाएं त्रिपुरा और पश्चिम बंगाल में सामने आई हैं

Previous Article
Next Article

Leave a Reply




Spirituality

Weather




Most Viewed Posts




%d bloggers like this: